छेत्री को भारतीय फुटबॉल की जर्सी पहनते हो गए 15 साल, कोच ने कही बड़ी बात

सुनील छेत्री ने भारतीय फूटबाल की जर्सी में अपने 15 साल पूरे किये। ऐसा करने वाले सुनील छेत्री दूसरे ऐसे खिलाड़ी हो गए जिन्होंने भारत के लिए

1592229618New Project (1).jpg

भारतीय फूटबाल टीम के कोच इगोर स्टीमक ने सुनील छेत्री की 14 जून को तारीफ की। यह दिन वह था जब सुनील छेत्री ने भारतीय फूटबाल की जर्सी में अपने 15 साल पूरे किये। ऐसा करने वाले सुनील छेत्री दूसरे ऐसे खिलाड़ी हो गए जिन्होंने भारत के लिए 15 साल फूटबाल खेला। 

छेत्री से पहले लीजेंडरी बाइचुंग भूटिया ने भारत की तरफ से 15 साल खेले थे। कोच इगोर ने कहा कि सुनील छेत्री वह खिलाड़ी हैं जिन्होंने भारतीय फुटबॉल को ग्लोरिफ़ाई किया। छेत्री ने 2005 में भारत के लिए पाकिस्तान के क्वेटा में पाकिस्तान के खिलाफ डेब्यू किया था। 

छेत्री भारत के लिए अबतक 115 में प्रतिनिधित्व कर चुके हैं जिसमे उन्होंने 72 गोल किये हैं। 

Suneel Chetri
इस मैच में स्कोर 1-1 था। जिसमे से छेत्री ने भारत  की तरफ से एक गोल किया था। कोच इगोर ने कहा कि छेत्री ऐसे खिलाड़ी हैं जो हमेशा यार्ड में ज्यादा दौड़ते हैं। ट्रेनिंग में ज्यादा पसीना बहाते हैं। जो कि यूवाओं को भी उत्साहित करता है। 

इगोर ने कहा, "मैं उसमे एक ऐसा व्यक्ति देखता हूँ जो ट्रेनिंग में हमेशा ज्यादा मेहनत करता है। वह अनुशासन के साथ कभी समझौता नहीं करते हैं। वह टीम को चलाते हैं। वह एक ऐसे व्यक्ति हैं जो टीम को परिभाषित करते हैं।

कई  खिलाड़ियों ने भारतीय फुटबॉल इतिहास को गौरवान्वित किया है और छेत्री निश्चित रूप से उनमें से एक हैं जिन्होंने अपने देश को गौरवान्वित किया है। छेत्री डेडिकेटेड, वर्कोहोलिक, और टीम मैंन हैं।"

कोच इगोर ने यह बाते आल इंडिया फुटबाल फेडरेशन की एक प्रेस रिलीज में कहा। इगोर King’s Cup 2019 के पहले पिछले साल भारतीय टीम के कोच बने थे। इगोर क्रोएशिया टीम के फुटबाल खिलाड़ी रह चुके हैं। उन्होंने क्रोएशिया के लिए 1990 से 2002 के बीच मैच खेले।

यह भी पढ़ें: चहल ने बताया कैसे हुई 'Chahal TV' की शुरुआत- 

सुनील छेत्री हाल में क्रिकेटर विराट कोहली के साथ इन्स्टाग्राम लाइव चैट करने के दौरान चर्चा में आये थे। जहाँ पर उन्होंने अपने बचपन के किस्सों को साझा किया। वह अपने स्कूल के दिनों में पश्चिमी दिल्ली में रहा करते थे। विराट कोहली भी पश्चिमी दिल्ली में पले बढ़ें हैं। यह दिलचस्प हैं कि भारतीय टीम के क्रिकेट और फुटबाल कप्तान बचपन में दिल्ली रह चुके हैं।