टीम इंडिया के पूर्व चयनकर्ता ने विराट कोहली के बारें में किया चौंकाने वाला ख़ुलासा

टीम इंडिया के पूर्व मुख्य चयनकर्ता, दिलीप वेंगसरकर ने एक कार्यक्रम में बात करते हुए वर्तमान भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली के बारें में चौंकाने वला खुलासा किया है।

1585997456Virat Kohli.jpg

टीम इंडिया के पूर्व मुख्य चयनकर्ता, दिलीप वेंगसरकर ने एक कार्यक्रम में बात करते हुए वर्तमान भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली के बारें में चौंकाने वला खुलासा किया है। वेंगसरकर ने कहा कि टीम इंडिया के पूर्व कप्तान, MS धोनी 2008 में टीम में  बल्लेबाज विराट कोहली को शामिल करने के खिलाफ थे। 

वेंगसरकर ने आगे कहा कि कोहली अपने प्रदर्शन की वजह से राष्ट्रीय टीम के लिए खेलने के लिए सबसे बड़े दावेदार थे। वेंगसरकर का टीम में कोहली को टीम में शामिल करने के फैसले पर महेंद्र सिंह धोनी और गैरी कर्स्टन बहुत खुश नहीं थे और वे उसी टीम के साथ बने रहना चाहते थे। धोनी ने कोहली को टीम में लेने की इच्छा नहीं जताई क्योंकि उन्होंने उन्हें पहले खेलते नहीं देखा था और उन्हें मौका देकर वह कोई रिस्क नहीं लेना चाहते थे। 

वेंगसरकर ने कहा, "मैंने और मेरे सहयोगियों ने फैसला किया कि हम अंडर -23 लड़कों को लेंगे और उस समय हमने अंडर -19 विश्व कप जीता था। विराट कोहली अंडर -19 कप्तान थे और मैंने उन्हें टीम में चुना था। वह (कोहली) तकनीकी रूप से मजबूत थे और मुझे लगा कि उन्हें खिलाना चाहिए। हम श्रीलंका जा रहे थे और मुझे लगा कि यह परफेक्ट कंडीशन है कि उन्हें टीम में होना चाहिए। मेरे चार सहयोगी भी इस बात पर सहमत थे।"

Kohli and Dhoni

विराट कोहली के चयन ने बीसीसीआई के तत्कालीन अध्यक्ष वेंगसरकर और एन श्रीनिवासन के बीच विवाद को जन्म दे दिया था।क्योंकि श्रीनिवासन भारत की राष्ट्रीय टीम में सुब्रमण्यन बद्रीनाथ शामिल करना चाहते थे। बद्रीनाथ ने रणजी ट्रॉफी में तमिलनाडु टीम का प्रतिनिधित्व किया था। उस समय 800 से अधिक रन बनाकर वह शानदार फॉर्म में थे। धोनी भी बद्रीनाथ को ही मौका देना चाहते थे। 

यह भी पढ़ें: 5 ऐसे धुरंधर बल्लेबाज़ जो T20 World Cup में सबसे ज्यादा बार 0 पर हुए हैं ऑउट

विराट कोहली को टीम इंडिया के श्रीलंका दौरे पर 2008 में भारतीय टीम में ब्रेक मिला। तब से, कोहली ने टीम के लिए कुछ शानदार मैच खेले हैं और टीम को जीत दिलाने में बहुत ही ज्यादा योगदान दिया है। उनका और धोनी का बहुत ही मजबूत रिश्ता है और विराट एक कप्तान और एक शानदार खिलाड़ी के रूप में अपने काम के लिए अपने पूर्व कप्तान को श्रेय देते हैं।