4 ऐसे क्रिकेटर जो अपने टेस्ट करियर में कभी ऑउट नहीं हुए

टेस्ट क्रिकेट में 4 ऐसे बल्लेबाज़ है जो अपने करियर में कभी ऑउट नहीं हुए। आइये इस बारें में विस्तार से जानते हैं। 

1590348262New Project (1).jpg

टेस्ट क्रिकेट में कोई टीम तभी जीतती है जब वह विपक्षी टीम के सभी 20 विकेट हासिल कर ले। किसी भी बल्लेबाज़ के लिए अपने करियर में नॉट ऑउट रहना बहुत ही मुश्किल है। इसके लिए उसे या तो नंबर 11 पर आना होगा और उसे नॉट ऑउट रहना होगा। 

क्रिकेट में सबकुछ संभव है। टेस्ट क्रिकेट में 4 ऐसे बल्लेबाज़ है जो अपने करियर में कभी ऑउट नहीं हुए। आइये इस बारें में विस्तार से जानते हैं। 

1- जॉन चिल्ड्स (मैच: 2, पारी: 4, रन: 2, उच्चतम स्कोर: 2*)

जॉन चिल्ड्स ने 36 साल और 320 दिनों की उम्र में वेस्ट इंडीज के खिलाफ इंग्लैंड में पदार्पण किया। उन्होंने अपने करियर में सिर्फ दो मैच खेले उनमें चिल्ड्स ने 86 ओवरों में केवल तीन विकेट चटकाए। वेस्टइंडीज के गेंदबाजों पर हावी होने वाली श्रृंखला में चिल्ड्स सभी चार पारियों में नॉट आउट रहने में सफल रहे।

चिल्ड्स के दोनों मैच वेस्टइंडीज के खिलाफ पांच मैचों की श्रृंखला में आए। संयोग से वह अपने करियर में कभी ऑउट नहीं हुए। 

2- टीनू योहानन - 4 पारी, 13 रन, भारत

टीनू योहाननन केरल के पहले क्रिकेटर थे जिन्होंने भारत के लिए टेस्ट और एकदिवसीय मैच खेले। योहनन ने दिसंबर 2001 में इंग्लैंड के खिलाफ एक यादगार टेस्ट डेब्यू किया था। उन्होंने दोनों इंग्लिश सलामी बल्लेबाजों को आउट किया और कुल 4 विकेट लिए। 

Tinu Yohanan

अगले दो टेस्ट मैचों में जो उन्होंने खेला, उन दोनों मैचों में वह केवल 1-1 विकेट ले पाए। उन्होंने तीन मैचों में 51.20 के औसत के साथ कुल छह विकेट लेकर अपने करियर का अंत किया।

इन तीन मैचों में, योहनन को चार बार बल्लेबाजी करने का मौका मिला और उन चार पारियों में वह नॉट ऑउट रहे। टीनू योहानन की बल्लेबाजी के बारे में दिलचस्प बात यह है कि वनडे में केवल 2 बार बल्लेबाजी के लिए आए दोनो बार नॉट आउट रहे, जिससे उनकी बल्लेबाजी का रिकॉर्ड और अधिक अनोखा बन जाता है।

3- अफाक हुसैन - 4 पारी, 66 रन, पाकिस्तान

दाएं हाथ के ऑफ ब्रेक गेंदबाज और एक उपयोगी निचले क्रम के दाहिने हाथ के बल्लेबाज, अफाक हुसैन भी अपने इंटरनेशनल टेस्ट करियर में नॉट ऑउट रहे। वह इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पाकिस्तान के लिए केवल दो टेस्ट मैच ही खेले। इस दौरान वह 4 बार बल्लेबाज़ी के लिए आये। 

यह भी पढ़ें: 5 ऐसे बल्लेबाज़ जो अपने पूरे वनडे करियर में नहीं जड़ पाए एक भी छक्का

हुसैन ने टेस्ट क्रिकेट में एक अनोखा रिकॉर्ड अपने नाम किया है, उन्होंने बिना आउट हुए सबसे अधिक टेस्ट रन (66) बनाए हैं। 1961 में इंग्लैंड के खिलाफ अपने पहले टेस्ट मैच में उन्होंने 10 * और 35 * रन बनाए। तीन साल बाद 1964 में, उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलने का मौका मिला, जिसके खिलाफ उन्होंने 8 * और 13 * रन बनाए।

4- एजाज चीमा - 5 पारियां, 1 रन, पाकिस्तान

Ajaj Cheema

ऐज़ाज़ चीमा पाकिस्तान के लिए ज़िम्बाब्वे के खिलाफ 31 साल की उम्र में अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की थी। सितंबर 2011 और जून 2012 के बीच वह पाकिस्तान के लिए 7 मैच खेले और इन 7 मैचों में उन्हें पांच मौकों पर बल्लेबाजी करने का मौका मिला और वह हर बार नॉट ऑउट रहे। वह अपने टेस्ट करियर में मात्र रन ही बना पाये और वह यह उन्होंने बांग्लादेश के खिलाफ बनाया।

टेस्ट क्रिकेट में नॉट ऑउट रहने के रिकॉर्ड में चीमा सबसे ऊपर हैं क्योंकि वह अधिकतम पारियों में नॉट आउट रहे।