टीम इंडिया के सेलेक्टर बनाये जाने के लिए ये 4 लोग किये गए शॉर्टलिस्ट, अब होगा इंटरव्यू

BCCI का यह रवैया सरकारी नौकरी के लिए फॉर्म भरवाने वाली संस्था जैसा हो गया है। आइये इसे विस्तार से जानते हैं। 

1581968705New Project (2).jpg

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के लिए सेलेक्टर चुनने के लिए BCCI ने लगभग एक महीने आवेदन मांगे थे लेकिन अभी भी यह घोषणा नहीं की है कि कौन से नाम शार्टलिस्ट हुए हैं। BCCI का यह रवैया सरकारी नौकरी के लिए फॉर्म भरवाने वाली संस्था जैसा हो गया है। आइये इसे विस्तार से जानते हैं। 

बीसीसीआई को अभी भी नए सेलेक्टर और केंद्रीय क्षेत्र प्रभारी MSK प्रसाद और गगन खोड़ा के रिप्लेसमेंट की घोषणा करनी है। अंतिम उम्मीदवार कौन होगा, इस पर कयास लगाए जा रहे हैं, क्योंकि बीसीसीआई ने अभी तक मीडिया को कोई बयान नहीं दिया है। अंतिम चार शार्टलिस्ट किये गए आवेदकों का इंटरव्यू CAC द्वारा शीघ्र ही लिया जाएगा।

आपको बता दें कि वर्तमान सेलेक्टर MSK  प्रसाद भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व विकेटकीपर रह चुके हैं। उन्हें 2016 में मुख्य सेलेक्कीटर  बागडोर सौंपी गई थी।

अटकलें थीं कि बीसीसीआई में उनकी भूमिका एक और वर्ष बढ़ जाएगी। हालांकि, दिसंबर 2019 के पहले सप्ताह में आयोजित बीसीसीआई की वार्षिक बैठक के दौरान, बोर्ड ने एक नए मुख्य चयनकर्ता की तलाश शुरू करने का फैसला किया।

MSK prashad

इसके बाद BCCI ने मुख्य चयनकर्ता के लिए आवेदन माँगा। कुल 21 उम्मीदवारों ने आवेदन दिया था, जिनमें से 4 को शार्टलिस्ट किया गया अब इनका इंटरव्यू होगा। BCCI ने जिन चार नामों को शार्टलिस्ट किया है वह हैं- लक्ष्मण शिवरामकृष्णन, अजीत अगरकर, वेंकटेश प्रसाद, और राजेश चौहान।  इन सबका इंटरव्यू मदन लाल, रुद्र प्रताप सिंह और सुलक्षणा नेल द्वारा लिया जायेगा। ये तीनो CAC के सदस्य हैं। 

बोर्ड के नए नियमों के अनुसार, जोनल सिस्टम को हटा दिया गया है, लेकिन बीसीसीआई उचित संतुलन बनाए रखने के लिए पुराने मॉडल को जारी रखना चाहता है। क्रिकेट बोर्ड द्वारा कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की जा रही है। हालांकि, फरवरी के अंत तक चयन प्रक्रिया 10 दिनों के भीतर पूरी होने की उम्मीद है।

भारत इस समय न्यूजीलैंड दौरे पर है और दो मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए कमर कस रहा है। इसके बाद वे तीन मैचों की एकदिवसीय सीरीज के लिए दक्षिण अफ्रीका से भिड़ेंगे, जो 12 मार्च से शुरू होने वाले नए चयनकर्ता की निगरानी में होगी।

यह भी पढ़ें: भैंस की रेस में मिला भारत को उसैन बोल्ट से तेज दौड़ने वाला इंसान
 

इससे पहले, BCCI ने विवाद खड़ा कर दिया जब शिवरामकृष्णन का BCCI के लिए आवेदन बोर्ड के इनबॉक्स से गायब हो गया। नतीजतन, बोर्ड को अंतिम साक्षात्कार के लिए कुछ नामों पर पुनर्विचार करना पड़ा।