सबसे ज्यादा लगातार टॉस हारने का रिकॉर्ड है नासिर हुसैन के नाम

अगर तब क्या हो जब किसी टीम की इतनी किस्मत ख़राब हो कि उसका कप्तान साल भर में एक भी टॉस न जीते। ऐसा हुआ है। आइये इस बारें में विस्तार से जानते हैं। 

1585726392Nasser Husain.jpg

क्रिकेट मैच में कभी कभी ऐसा होता है कि जो टीम टॉस जीतती है वही मैच भी जीतती है। यह ऐसा इसलिए होता है क्योंकि पिच की कंडीशन के हिसाब से टीम का कप्तान बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी के विकल्प को चुनता है। अगर तब क्या हो जब किसी टीम की इतनी किस्मत ख़राब हो कि उसका कप्तान साल भर में एक भी टॉस न जीते। ऐसा हुआ है। आइये इस बारें में विस्तार से जानते हैं। 

सबसे ज्यादा लगातार टॉस हारने का रिकॉर्ड 

इंग्लैंड के कप्तान नासिर हुसैन के साथ ऐसा हुआ है कि उन्होंने अपने शुरूआती कप्तानी के एक साल में कोई भी टॉस नहीं जीता है। इस दौरान उनकी टीम ने 14 मैच खेले। यह बहुत चौंकाने वाला है। क्योंकि सिक्के का किसी के इस तरह से पक्ष में न आना बहुत ही कम बार देखा जाता है। 

यह बात तब की है जब नासिर हुसैन 1999 विश्व कप के बाद इंग्लैंड के नियमित कप्तान बने। वह अपनी कप्तानी के 12 महीने बिना टॉस जीते बिताये। नवंबर 2000 के अंतिम सप्ताह और दिसंबर 2001 के पहले सप्ताह के बीच अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में नासिर ने 14 मैचों के दौरान इंग्लैंड की कप्तानी की। वह इस स्तर पर उस दौरान एक भी टॉस जीतने में सफल नहीं रहे। 

Nasser Husian

इन 14 मैचों में 10 टेस्ट मैच थे। बाकी के 4 वनडे मैच थे। ये 4 वनडे जिम्बाब्वे की मेजबानी में एकदिवसीय सीरीज के दौरान हुए। 10 टेस्ट मैच 4 टेस्ट सीरीज़ का हिस्सा थे। यह चारों टेस्ट सीरीज  पाकिस्तान में, श्रीलंका में, भारत में और इंग्लैंड में एशेज सीरीज थी।

लगातार टॉस के नुकसान से जुड़े नास से आकर्षक तथ्य यह है कि टेस्ट क्रिकेट में लगातार 10 टॉस हारने की संभावना 1/1024 के बराबर है जबकि अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में लगातार 14 टॉस हारने की संभावना 16384 की घटना में एक है।

यह भी पढ़ें: टेस्ट क्रिकेट का सबसे महंगा ओवर एक गेंदबाज़ ने बल्लेबाज़ की गेंदबाज़ी में बनाया है

सबसे ज्यादा टॉस जीतने का रिकॉर्ड 

वहीं इंग्लैंड के वर्तमान टेस्ट कप्तान जो रूट ने लगातार 8 बार टेस्ट मैच में टॉस जीता है। यह बात सन्न 2018 तक की है।