2 दिन के अंदर 3 टीमें टूर्नामेंट में 3 बार 116 रनों के अंतर से हारी

आज हम 2004 में हुए एशिया कप से जुड़े कुछ अजीब और इंटरेस्टिंग संयोग के बारें में जानते हैं-

1593598285New Project (3).jpg

ज़िन्दगी में इत्तेफाक (संयोग) होते हुए कई बार आप लोगों ने देखा होगा ठीक इसी तरह से खेलों में भी होता है। बात जब क्रिकेट की आती है तो इस खेल में कभी कभी कुछ ऐसे संयोग देखने को मिलते हैं जिससे माथा चकरा जाता है कि क्या ऐसा भी हो सकता है। 

आज हम 2004 में हुए एशिया कप से जुड़े कुछ अजीब और इंटरेस्टिंग संयोग के बारें में जानेंगे। आइये इस बारें में विस्तार से जानते हैं। 

दरअसल यह संयोग 2004 में एशिया कप के दौरान 2 दिन के अंदर बना। संयोग यह था कि पहले 4 मैचों में 3 टीमें सामान रनो के अंतर से हारी। जहाँ इस एशिया कप के पहले मैच में बांग्लादेश ने 16 जून को हांगकांग को 116 रन से हराया। 

बांग्लादेश ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 50 ओवरों में कुल 221/9 रन बनाये थे। लक्ष्य का पीछा करते हुए हांगकांग 42. 2 ओवरों में केवल 105 रन ही बना सकी। इस तरह से हांगकांग यह मैच 116 रन से हार गया। 

वहीं इस टूर्नामेंट के दूसरे मैच में इसी दिन भारत ने UAE को भी 116 रनो से हराया।  भारत ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 50 ओवरों में कुल 260/6 रन बनाये। लक्ष्य का पीछा करते हुए UAE की टीम मात्र 35 ओवरों में 144 रन ही बना सकी और आल आउट हो गयी। इस तरह से भारत ने भी ठीक इसी दिन यह मैच 116 रनो से जीत लिया। 

2004 Asia Cup

इस तरह से पहले दो मैच 116 रनो के अंतर से जीते गए। संयोग यहीं नहीं थमा। अभी तो एक और संयोग एशिया बनना था। तीसरे मैच में 17 जून को पाकिस्तान ने बांग्लादेश को 76 रनो से हराया। 

चौथे मैच में में 17 जून को श्रीलंका ने भी UAE को 116 रनो से हराया। श्रीलंका ने UAE के खिलाफ 50 ओवरों में कुल 239 रन बनाये। जवाब में UAE 123 रन ही बना सकी। 

यह भी पढ़ें: T-20 में केन विलियम्सन के कप्तानी के एक रिकॉर्ड से पीछे हैं कोहली

इस तरह से एक टूर्नामेंट के पहले चार मैच में पहले बल्लेबाज़ी करने वाली टीम ने जीत हासिल की। और तीन मैचों में टीम ने समान रनों के अंतर से विपक्षी टीम को हराया। यह शायद क्रिकेट टूर्नामेंट के इतिहास में पहली बार हुआ होगा। 

इस 8वें एशिया कप को श्रीलंका ने भारत को हराकर जीता।