ऐसा गेंदबाज़ हैं जिसने अपनी हैट्रिक 3 अलग-अलग ओवर में पूरी की, जानें कैसे-

क्रिकेट इतिहास में एक ऐसा गेंदबाज़ हैं जिसने अपनी हैट्रिक 3 अलग-अलग ओवर में पूरी की। आइये जानते हैं कि यह कैसे संभव हुआ और किस गेंदबाज़ ने ऐसा किया है?

1588707747Mark Huges .jpg

क्या कोई गेंदबाज तीन ओवर में अपनी हैट्रिक पूरी कर सकता है? यह सुनने में अजीब जरूर है पर ऐसा हुआ है। ऐसा वास्तव में अंतर्राष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट में हुआ है। क्रिकेट इतिहास में एक ऐसा गेंदबाज़ हैं जिसने अपनी हैट्रिक 3 अलग-अलग ओवर में पूरी की। आइये जानते हैं कि यह कैसे संभव हुआ और किस गेंदबाज़ ने ऐसा किया है?

यह कारनामा ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज मर्व ह्यूजेस ने किया हैं। उन्होंने पर्थ में ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज के बीच दूसरे टेस्ट मैच के दौरान 1988 में यह अजीब हैट्रिक ली थी। इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए वेस्टइंडीज विवियन रिचर्ड्स के शानदार शतक के बाद एक अच्छीस्थिति में था। रिचर्ड्स के ऑउट होने क बाद क्रीज पर कर्टली एम्ब्रोस और कर्टनी वाल्श थे और उस समय वेस्टइंडीज का स्कोर 440/8 था। 

इसके बाद मर्व ह्यूजेस पारी का 36वां ओवर फेंकने आए और एम्ब्रोज़ को उस ओवर की आखिरी गेंद पर इयान हीली के हाथों कैच ऑउट करा दिया। वेस्ट  इंडीज के अब 9 विकेट गिर चुके थे. ऑस्ट्रेलियाई कप्तान एलन बॉर्डर ने मर्व ह्यूजेस को उस स्पेल के बाद ह्यूज बॉलिंग नहीं कराई, क्योंकि उनकी साझेदारी को तोड़ने का इरादा पूरा हो गया था।

इसके बाद ह्यूजेस को फिर से आक्रमण पर लगाया गया। अपने नए ओवर की पहली गेंद पर, उन्होंने  टोनी डोडेमाएड के हाथों नंबर 11 के बल्लेबाज पैट्रिक पैटरसन को ऑउट कराया। इसके बाद वेस्ट इंडीज की पारी 449 पर समाप्त हो गई।

संक्षेप में, दो अलग-अलग ओवरों में (अंतिम स्पेल के ओवर की आखिरी गेंद और नए ओवर की पहली गेंद) दो बैक-टू-बैक विकेट ह्यूजेस को मिल गए थे।  यह वेस्टइंडीज की पहली पारी थी।

Merv Hughes 

इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई ने अपनी पहली पारी में ग्रीम वुड की शानदार शतकीय पारी की वजह से 395 का सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया। ह्यूजेस ने इसके बाद वेस्टइंडीज की दूसरी पारी के दौरान गेंदबाजी आक्रमण की शुरुआत की और फिर से पारी की पहली ही गेंद पर दिग्गज बल्लेबाज़ गॉर्डन ग्रीनिज को उनकी गेंद पर पगबाधा आउट दिया गया।

अधिकांश दर्शक और खिलाड़ी उस इतिहास से अनजान थे, जो ह्यूजेस ने इस विकेट के साथ बनाया था। यह तीन अलग-अलग ओवरों में तीन-गेंद की हैट्रिक थी जो दो अलग-अलग पारियों और दो अलग तारीखों में घटित हुई थी!

यह भी पढ़ें: धोनी के वनडे और टेस्ट के पहले शतक के बीच हैं 3 अजीब संयोग

वेस्टइंडीज ने डेसमंड हेन्स के शतक के बाद दूसरी पारी में 349 रन बनाए। 404 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए, ऑस्ट्रेलिया 170 रन से मैच हार गया। 
ह्यूजेस ने पहली पारी में 5 विकेट और दूसरी पारी में 8 विकेट लेकर शानदार 13/217 के साथ खेल समाप्त किया।