2 ऐसे परिवार हैं जिसकी 3 पीढ़ी- दादा, बेटा और नाती ने अंतराष्ट्रीय क्रिकेट खेली

क्रिकेट में 2 ऐसे परिवार हैं जिसकी 3 पीढ़ी अंतराष्ट्रीय क्रिकेट खेली है। इनमे दादा, बेटा और नाती अंतराष्ट्रीय क्रिकेटर रहे हैं। आइये इस बारें में विस्तार से जानते हैं। 

1590935793New Project (3).jpg

फिल्मों में और राजनीति में आपने भाई-भतीजावाद खूब देखा होगा। इन दोनों क्षेत्र में बाप, दादा, परदादा और न जाने एक विशेष परिवार के कितने वंशज अपनी पीढ़ी को बढ़ाते हैं। फिल्मों में काम करना और राजनीति में नेताही करना आसान है लेकिन खेल में शायद ही कोई ऐसा परिवार होगा जिसके वंशज किसी खेल विशेष में अपनी पीढ़ी का प्रतिनिधित्व किये हुए हैं। खेल में टैलेंट की जरूरत होती है यही वजह है कि पीढ़ी दर पीढ़ी कोई भी किसी एक खेल में अपने वंश का प्रतिनिधित्व नहीं कर पाता है। 

क्रिकेट में 2 ऐसे परिवार हैं जिसकी 3 पीढ़ी अंतराष्ट्रीय क्रिकेट खेली है। इनमे दादा, बेटा और नाती अंतराष्ट्रीय क्रिकेटर रहे हैं। आइये इस बारें में विस्तार से जानते हैं। 

1- दादा- जार्ज हेडली(वेस्टइंडीज), बेटा- रॉन हेडली (वेस्टइंडीज); नाती- डीन हेडली (इंग्लैंड)

हेडली परिवार क्रिकेट का पहला ऐसा परिवार था जिसकी तीन पीढ़ी अंतराष्ट्रीय क्रिकेट खेल पायी। इसमें दादा और बाप ने एक टीम से क्रिकेट खेला जबकि नाती ने दूसरे देश के लिए क्रिकेट खेला। यह परिवार है जार्ज हेडली का। जार्ज हेडली और उनके बेटे रॉन हेडली ने वेस्टइंडीज के लिए क्रिकेट खेला, जबकि नाती डीन हेडली ने इंग्लैंड के लिए क्रिकेट खेला।

Headly Cricket Family 

जार्ज हेडली को उनकी बल्लेबाज़ी क्षमता की वजह से 'ब्लैक डॉन ब्रैडमैन' कहा जाता है। वह 1930 से 1954 के दौरान के वेस्टइंडीज के लिए क्रिकेट खेले। इस दौरान वह 22 टेस्ट मैचों में 10 शतक और 5 अर्धशतक की मदद से 2,190 रन बनाए। 

जार्ज हेडली के बेटे रॉन हेडली ने 1973 के दौरान वेस्टइंडीज के लिए 2 टेस्ट मैच खेले। जिसमे उन्होंने 62 रन बनाये। इसके अलावा उन्होंने अपने करियर में एक वनडे मैच भी खेला जिसमे वह 19 रन बनाने में कामयाब रहे। 

जार्ज हेडली के नाती और रॉन हेडली के बेटे डीन हेडली ने हालांकि इंग्लैंड के लिए क्रिकेट खेला। उन्होंने 1997-99 के दौरान इंग्लैंड के लिए क्रिकेट खेला जिसमें उन्होंने 15 टेस्ट मैच में 60 विकेट जबकि 13 वनडे मैच में 11 विकेट ले पाए। 

14 सितंबर 1996 को, डीन हेडली ने एक अंग्रेजी काउंटी सत्र में तीन हैट्रिक लेकर विश्व रिकॉर्ड की बराबरी की। उन्होंने कैंटरबरी में हैम्पशायर के खिलाफ यह उपलब्धि हासिल की। उन्होंने 1924 में चार्ली पार्कर और जे.एस. 1963-64 में राव द्वारा एक काउंटी सत्र में बनाये गए इस विश्व रिकॉर्ड की बराबरी की। 

2- दादा- मोहम्मद जहाँगीर खान (भारत); बेटा - माजिद खान (पाकिस्तान), नाती- बाजिद खान (पाकिस्तान)

हेडली परिवार की तरह मोहम्मद जहांगीर के परिवार की तीन पीढियों ने अंतराष्ट्रीय क्रिकेट खेला। मोहम्मद जहांगीर खान ने भारत के लिए क्रिकेट खेला और उनके बेटे माजिद खान और नाती बाजिद खान ने पाकिस्तान के लिए क्रिकेट खेला। मोहम्मद जहांगीर गुलाम भारत के दौरान भारत के लिए खेले और बंटवारा होने के बाद पाकिस्तान जाके बस गए। 

Pak Khan 3 generation Family

मोहम्मद जहाँगीर खान ने 1932-1936 के दौरान भारत की तरफ से खेलते हुए 4 टेस्ट मैचों में 39 रन बनाये और 4 विकेट हासिल किये। उनके बेटे माजिद खान ने बंटवारे के बाद 1964-1983 के दौरान खेलते हुए पाकिस्तान के लिए 63 टेस्ट मैच और 23 वनडे मैच में हिस्सा लिया। 

इस दौरान टेस्ट मैच में उन्होंने 8 शतक और 19 अर्धशतक की मदद से 3931 रन जबकि वनडे में 1 शतक और 7 अर्धशतक की मदद से 786 रन बनाये। इसके अलावा उन्होंने टेस्ट और वनडे में क्रमशः 23 और 13 विकेट भी झटके। अपने करियर के दौरान माजिद खान ने पाकिस्तान की कप्तानी भी की। 

यह भी पढ़ें: पिता-पुत्र की 6 जोड़ी जिन्होंने 2 देशों के लिए अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट खेला

मोहम्मद जहाँगीर खान के नाती और माजिद खान के बेटे बाजिद खान ने भी पाकिस्तान के लिए अंतराष्ट्रीय मैच खेला। बाजिद खान ने पाकिस्तान के लिए 2005 में एकमात्र टेस्ट मैच और 3 वनडे मैच खेले। एकमात्र टेस्ट में उन्होंने 32 रन और 3 वनडे मैच में 78 रन बनाये।